Posts

Showing posts from March 11, 2018

डार्क वेब: ज़हरीले नशे की स्याह दुनिया, ख़तरे में है कौन?

Image
"डार्क वेब के बारे में पहली बार मुझे 2010 में पता चला था, जब एक फ़िल्म देखी थी. 2014 में अपने बर्थडे पर मैंने सोचा कि कुछ थ्रिल हो जाए. लाइफ़ बहुत बोरिंग हो गई थी और कुछ अलग करना चाहता था. बस उठाया लैपटॉप और ऑर्डर कर दिया. एलएसडी, मेथाफ़ेटामीन, कोकीन, हेरोइन, एमडीएमए, डीएमटी या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग; जो चाहिए, सब घर पर डिलीवर हो जाता है." तरंग पूरे उत्साह के साथ बता रहे थे कि डार्क वेब कितना 'ईज़ी और एक्साइटिंग' है. वह एलएसडी, कोकीन और हेरोइन वगैरह घर पर सब्ज़ी की तरह डिलीवर होने को एक सुविधा की तरह देखते हैं. उन्होंने कहा, "वेबसाइट के डीलर ने हमसे पूछा कि आपको डिलीवरी कैसे चाहिए. उन्होंने ही सजेस्ट किया कि खाने या खिलौने के डिब्बे में ले लो. हमने खिलौने के डिब्बे में लाने को कहा."
तरंग बताते हैं, "गारंटी कार्ड और रसीद ज़िपलॉक के पाउच में डालकर भेजे गए. डिलीवरी वाले ने न फ़ोन किया, न कुछ पूछा. बस डिलीवरी का टाइम पूछने के लिए एक मेल आया. ठीक तय समय पर नॉक किया और दे दिया सामान. जब तक आया नहीं था, तब तक लग रहा था कि हम लुट गए, कुछ नहीं आने वाला. ऐसा भी डर…