Thursday, 11 January 2018

टर्मिनेटर ( गैलियम धातु )


टर्मिनेटर ( गैलियम धातु )
terminator woman
आपने टर्मिनेटर और जानी दुश्मन – एक अनोखी कहानी जैसी मशहूर फ़िल्में तो देखी ही होंगी | जिसमें विशेष प्रकार के विलेन दिखाए गए हैं | जिनको हीरो द्वारा चोट पहुँचाने या तोप से उड़ाने या गोलियाँ मारने पर विलेन एक अजीब से तरल पदार्थ में बदल जातें हैं | जो कुछ – कुछ पानी जैसा सिल्वर कलर का तरल पदार्थ होता हैं | जब विलेन का शरीर तरल पदार्थ में बदल जाता हैं तो यह पदार्थ वापस से जुड़कर सम्पूर्ण शरीर बना लेता हैं | और विलेन पुनः जिन्दा हो जाता हैं | ऐसा फिल्म में कई बार होता हैं | इसी प्रकार के गुण गैलिनियम नामक धातु में भी पाए जातें हैं | इस धातु से अगर शरीर बना लिया जाये तो ऐसा संभव हो सकता हैं |
  1. रासायनिक चिन्ह – Ga
  2. परमाणु संख्या – 31
  3. इलेक्ट्रोनिक विन्यास – 2,8,18,3
गैलियम एक रासायनिक तत्व हैं | यह प्रकृति में शुद्ध रूप में नहीं पाया जाता हैं | लेकिन इसके यौगिक बॉक्साइट और जस्ते के खनिजों में अल्प मात्रा में पाए जाते हैं | अपने शुद्ध रूप में यह एक मुलायम तथा चमकीली धातु होती हैं | जिसका गलनांक केवल 29.76 डिग्री सेल्सियस हैं | इससे पता चलता हैं कि यह अक्सर सामान्य तापमान पर भी पिघल जाता हैं | इसकी खोज सन 1875 में हुई थी | और तभी से यह ऐसी मिश्र धातुएँ बनाने में प्रयोग किया जाता हैं जो कम तापमान पर भी पिघल जाएँ | इसका उपयोग अर्धचालकों में भी किया जाता हैं |
इस प्रकार प्रयोग करने से सिद्ध होता हैं कि गैलिनियम टर्मिनेटर धातु हैं –
पारा ( Mercury ) कमरें के तापमान पर एकमात्र तरल धातु हैं | लेकिन जैसा कि Hg विषाक्त हैं, गैलियम मिश्र धातु अक्सर इस्तेमाल किया जाता हैं | जब तरल सल्फ्यूरिक एसिड गैलियम के टुकड़े ओअर डाला जाता हैं तो गैलियम पिघल कर तरल बन जाता हैं | इस दौरान गैलियम धातु का ताप 29.8 डिग्री सेल्सियस हो जाता हैं | सतह तनाव के कारण गैलियम की छोटी – छोटी बूँदे आपस में मिलकर एक बड़ी बूँद बनाती हैं | गैलियम स्थायी रूप से पौटेशियम डाई क्रोमेट ( K2Cr2O7 ) क्रिस्टल के साथ तीव्र क्रिया करता हैं | Ga लवण की अघुलनशील परत आंतरिक तनाव को बदल देती हैं | जिससे ये ड्रॉप Wobble बन जाता हैं |
terminator metal
अब Ga के साथ हाइड्रोजन परॉक्साइड H2Oके विलयन को H2SO4 के विलयन में डाला जाता हैं | गर्म करने पर ठोस धातु गैलियम इंडीयम – गैलिस्टोन बनाती हैं जो कमरें के ताप ( Tmelt = -19 C ) पर तरल हैं ( यह थर्मामीटर में प्रयोग किया जाता हैं ) | अब Al पानी में घुल जाता हैं | Al और Ga मिश्र धातु जल से प्रतिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस मुक्त करती हैं |