Posts

Showing posts from November 15, 2017

स्मोकिंग से जुड़े मिथ एंड फैक्ट्स | Myth And Facts About Smoking

Image
स्मोकिंग से जुड़े मिथ एंड फैक्ट्स | Myth And Facts About Smoking
Myth And Facts About Smoking | WHO के अनुसार दुनिया में हर साल लगभग 64 लाख लोगों की डेथ स्मोकिंग की वजह से होती है। इनमें से 9 लाख लोगों की मौत भारत में होती है। इसकी गंभीरता को देखते हुए WHO ने वर्ष 1987 से वर्ल्ड नो टोबेको डे मनाने का निर्णय लिया ताकि लोगों को स्मोकिंग के नुकसान के बारे में जागरुक किया जा सके। स्मोकिंग को लेकर कई तरह के मिथ प्रचलित हैं, जैसे अगर डाइट अच्छी है तो बॉडी पर इसका निगेटिव असर कम होता है। लेकिन यह बिल्कुल सच नहीं है। ऐसे और भी कई मिथ हैं। आज हम आपको बता रहे है स्मोकिंग से जुड़े 5 ऐसे ही मिथ और उनकी सच्चाई-
स्मोकिंग से जुड़े मिथ एंड फैक्ट्स | Myth And Facts About Smoking  Myth – सिगरेट पीने के साथ अगर हेल्दी डाइट ली जाए तो फिर इससे नुकसान नहीं होगा। Fact – सिगरेट का सीधा असर लंग्स पर पड़ता है जिसका डाइट से कोई संबंध नहीं है। इसलिए हेल्दी डाइट लेने पर भी सिगरेट नुकसान करेगी ही। Myth – लाइट या माइल्ड सिगरेट ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाती है। Fact – स्टडीज के अनुसार लाइट सिगरेट पीते समय स्मोकर्स ज्यादा तेजी …

व्हाट्सऐप पर बाद में भी पढ़ा जा सकता है डिलीट किया हुआ मैसेज!..

Image
व्हाट्सऐप पर बाद में भी पढ़ा जा सकता है डिलीट किया हुआ मैसेज!..

ख़ास बातें एक रिपोर्ट में दावा, डिलीट किए हुए मैसेज भी डिवाइस पर मौज़ूद रहते हैंथर्ड पार्टी ऐप नोटिफिकेशन हिस्ट्री के ज़रिए मैसेज पढ़ पाना संभवमैसेज एंड्रॉयड सिस्टम के नोटिफिकेशन रजिस्टर में मौज़ूद रहते हैं दुनिया के सबसे लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप ने हाल ही में सभी यूज़र के लिए डिलीट फॉर एवरीवन फीचर को पेश किया था। क्या डिलीट किए हुए मैसेज वाकई में फोन से गायब हो जाते हैं? एक नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि डिलीट किए गए मैसेज भी डिवाइस पर मौज़ूद रहते हैं और उन्हें आसानी से बाद में एक्सेस किया जा सकता है।

स्पेन के ब्लॉग एंड्रॉयड जेफे ने दावा किया है कि डिलीट किए गए मैसेज हैंडसेट के नोटिफिकेशन लॉग में मौज़ूद रहते हैं। आगे बताया गया है कि सामने वाला शख्स (रिसीवर) भेजे हुए मैसेज को सेंडर द्वारा डिलीट करने के बाद भी आसानी से पढ़ पाएगा।  ब्लॉग में कहा गया, "हमने पाया कि मैसेज एंड्रॉयड सिस्टम के नोटिफिकेशन रजिस्टर में मौज़ूद रहते हैं। इसका मतलब है कि आपको नोटिफिकेशन रिकॉर्ड तक पहुंचना है और आप डिलीट किए हुए मैसेज को …

UFO देखे जाने की 10 प्राचीनतम घटनाएं (10 Oldest incident of UFO seeing)

Image
UFO देखे जाने की 10 प्राचीनतम घटनाएं (10 Oldest incident of UFO seeing)
10 Oldest incident of UFO seeing in Hindi: क्या इस ब्रह्माण्ड में पृथ्वी के अलावा और कई भी जीवों का अस्तित्व है या नहीं? यह प्रशन हमेशा से ही इंसान को आकर्षित करता आया है। समय समय पर दूसरे ग्रहों पर प्राणियों के रहने के संकेत मिले हैं। ऐसा अब वैज्ञानिक भी मानने लगे हैं कि संसार में पृथ्वी के अलावा भी दूसरे ग्रहों पर जीवों यानि एलियंस के मिलने के संकेत मिले हैं। हालांकि पक्के तौर पर अभी तब सबूत नहीं जुटाए जा सके हैं। पर एलियंस अपनी मौजूदगी के संकेत हमेशा से देते रहे हैं। आज हम आपको अपनी इस पेशकश में एलियंस की मौजूदगी के 10 सबसे पुरानी तस्वीरों को दिखा रहा है।(1)- 1870 में मिट वाशिंगटन द्वारा न्यू हैंपशायर में बनाई गई इस तस्वीर को एलियंस की मौजूदगी बताने वाली पहली तस्वीर के तौर पर मान्यता मिली हुई है। इस फोटो को 2002 में ईबे पर नीलामी के लिए उतारा गया, जहां इसे सैमुएल एम शेरमन ने ऊंचे दाम पर खरीदा। सैमुएल एम शेरमन इंटरनेशनल पिक्चर्स कॉर्पोरेशन के प्रेसीडेंट थे। ये तस्वीर वास्तव में स्टीरियो फोटोग्राफ है। दरअसल, उस सम…

एलियंस का गढ़ माना जाता है एरिया 51, जानिए इस जगह से जुड़े रहस्यमयी FACTS

Image
एलियंस का गढ़ माना जाता है एरिया 51, जानिए इस जगह से जुड़े रहस्यमयी FACTS
Mysterious Facts Of Area 51: US स्टेट्स एयर फाॅर्स के अंदर आने वाले एरिया 51 के बारे में काफी कम लोगों को पता है। ये एरिया दुनिया के सबसे रहस्यमयी जगहों में एक मानी जाती है। कहा जाता है कि यहां अमेरिकी सरकार के कई सीक्रेट्स दफन हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं एरिया 51 से जुड़े 9 रोचक फैक्ट्स-

एलियंस का गढ़ माना जाता है एरिया 51
दुनिया में कई जगहों पर एलियंस के देखे जाने के दावे किए जाते हैं। लेकिन एरिया 51 में इन दावों में छुपी हकीकत देखने को मिलती है। इस जगह के आसपास कई बार ऐसी चीजें मिली हैं, जो इस दावे को पक्का करती हैं कि एलियंस होते हैं। अमेरिका के सीनियर साइंटिस्ट बॉयड बुशमैन एरिया 51 में जा चुके हैं। उन्होंने 2014 में अपने एक स्टेटमेंट से तहलका मचा दिया था। उन्होंने बताया था कि वो दूसरी दुनिया के प्राणी यानी एलियंस से बात कर चुके हैं। साथ ही उन्होंने वो तरीका भी बताया था, जिससे ये एलियंस मात्र एक घंटे में पृथ्वी से अपने ग्रह का सफर तय करते हैं।
लोगों के मन में इस जगह को लेकर बैठा है डर
कई ऐसे लोग हैं, जो इस जगह …

आप स्पेस में रो नहीं सकते, जानिए स्पेस से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य

Image
आप स्पेस में रो नहीं सकते, जानिए स्पेस से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य
अंतरिक्ष सदैव से ही इंसान को अपनी और आकर्षित करता रहा है। यही कारण है कि प्राचीन समय में ही हमारे पूर्वजों ने अंतरिक्ष से जुड़े कई रहस्य पता लगा लिए थे। फिर धीरे-धीरे विज्ञानं की मदद से मनुष्य का स्पेस में जाना भी पॉसिबल हो गया जिसके बाद अंतरिक्ष से जुड़े कई अन्य राज़ हमे पता पड़े। यहां हम स्पेस से जुड़े कुछ प्रमुख तथ्यों के बारे में जानेंगे –
1. फरवरी 1984 में अमेरिकी एस्ट्रोनॉट ब्रूस मैक्कैंड्लेस यान से निकलकर अंतरिक्ष में विचरण करने वाले पहले मानव बने। वे चैलेंजर नामक अंतरिक्ष यान से बाहर निकलकर 300 फुट तक चले थे। ब्रूस यूएस नेवी में फाइटर पायलट भी रह चुके हैं। 2. जेन डेविस और मार्क ली अंतरिक्ष में एक साथ जाने वाले पहले कपल हैं। 1992 में वे दोनों स्पेस शटल इंडीवर के चालक दल में शामिल थे। 3. 23 अप्रैल, 1967 को सोवियत कॉस्मोनॉट व्लादिमीर कोमारोव अंतरिक्ष की अपनी दूसरी यात्रा के दौरान वापसी में स्पेसक्राफ्ट के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने पर मारे गए थे। अंतरिक्ष यात्रा में मरने वाले वे दुनिया के पहले व्यक्ति थे। 4. लाइका नामक कुतिया ने …

स्पेस से जुड़े मिथ्स एंड फैक्ट्स

Image
Amezing fact about space स्पेस से जुड़े मिथ्स एंड फैक्ट्स
स्पेस का रहस्य सुलझाना काफी मुश्किल है। बचपन से ही इससे जुड़ी कई बातें हम पढ़ते-सुनते आए हैं। लेकिन असलियत क्या है, ये कोई नहीं जानता। इस वजह से लोगों को स्पेस से जुड़ी कई तरह की गलतफहमी हो जाती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं स्पेस से जुड़ी ऐसी ही गलतफहमियां और उसके पीछे का सच।
मर्करी है सबसे गर्म प्लेनेट लोगों को ऐसा लगता है कि जो भी ग्रह सूरज के सबसे नजदीक होता है, वही सबसे गर्म है। लेकिन सच ये नहीं है। वैसे तो सूरज के सबसे नजदीक मर्करी प्लेनेट है लेकिन उससे ज्यादा गर्म ग्रह वीनस है। दिन के समय में जहां मर्करी का टेम्प्रेचर 420 डिग्री सेंटीग्रेड तक होता है वहीं वीनस का टेम्प्रेचर 462 डिग्री सेंटीग्रेड तक पहुंच जाता है।

सूरज का रंग पीला है
पृथ्वी से देखने पर ऐसा लगता है कि सूरज का रंग पीला या नारंगी है। लेकिन असल में सूरज का रंग सफेद है। दरअसल, टेम्पेरेचर की वजह से पृथ्वी से सूरज का रंग नारंगी दिखता है। चांद के दूसरे साइड रहता है अंधेरा
लोगों को ऐसा लगता है कि चांद के दूसरे तरफ अंधेरा रहता है। लेकिन असल में ऐसा नहीं है। दरअसल, पृथ्वी स…