Posts

Showing posts from September 17, 2017
हसरतें कुछ और, वक्त की इल्तजा कुछ और,

कौन जी सका है, अपने मुताबिक ज़िन्दगी..!!
 नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते क्यू नही..
इतनी ही फिक्र है तो फिर हमारे होते क्यू नही...


बख्शे हम भी न गए बख्शे तुम भी न जाओगे,
वक्त जानता है हर चेहरे को बेनकाब करना।
*😭💔👈हर कोई सता नही सकता मुझे...!!!*
.
.
.
.
.
*वो जान है मेरी...उसका हक़ बनता है...!!!😭💔👈*
जहा से तेरा मन चाहे वहा से मेरी जिंदगी को पढ़ ले तू,
पन्ना चाहे कोई भी खुले हर पन्नें पर तेरा ही नाम होगा।
: हमें भी पता था लोग बदल जाते हे😔,
पर हमने तुम्हे कभी उन लोगो में गिना ही नही था।
मुझे ये तो नही पता की प्यार में बेवफाई क्यों मिलती हे,
पर इतना जरूर पता हे की जब दिल भर जाता हे अक्सर लोग बदल जाते हे।😔
मेरा और चाँद का नसीब एक जैसा हे,
वो तारो में तनहा हे और में हजारो में।😔
 मुझे नजरअंदाज करने की एक वहज तो बता,
फिर तुजे चाहने की हजार वजह में बताऊंगा।
ना कर इतनी कोशिशे मेरे दर्द को समझने की,
तू पहले इश्क़ कर,
फिर चोट खा,
फिर लिख दवा मेरे दर्द की।
 हमें भी पता था लोग बदल जाते हे😔,
पर हमने तुम्हे कभी उन लोगो में गिना ही नही हैं ।😔