नये सॉफ्टवेयर से कुछ मिनट में होगी डीएनए की पहचान

नये सॉफ्टवेयर से कुछ मिनट में होगी डीएनए की पहचान


नये सॉफ्टवेयर से कुछ मिनट में होगी डीएनए की पहचान
‘ईलाइफ’ जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक इस तकनीक के व्यापक इस्तेमाल हो सकते है. (फाइल फोटो)

क्रेडिट कार्ड के आकार का उपकरण अपने सूक्ष्म छिद्रों के जरिये विभिन्न डीएनए को अपनी ओर खींचता है. इसके बाद वह न्यूक्लियोटाइड या डीएनए के अक्षरों ए टी सी जी के क्रम का विश्लेषण करता है.

न्यूयॉर्क: अनुसंधानकर्ताओं ने एक ऐसी सॉफ्टवेयर प्रणाली विकसित की है, जिसका इस्तेमाल महज कुछ मिनट में व्यक्ति के डीएनए और कोशिकाओं के सटीक पहचान में किया जा सकता है. ‘ईलाइफ’ जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक इस तकनीक के व्यापक इस्तेमाल हो सकते है. हालांकि इसका सबसे त्वरित उपयोग कैंसर के प्रयोगों में संक्रमित कोशिकाओं की पहचान करने में किया जा सकता है. अमेरिका के कोलंबिया विश्वविद्यालय के यानीव एरलिच ने कहा, ‘‘हमारा तरीका समाज के लाभ के लिए तैयार प्रौद्योगिकी के नये मार्ग प्रशस्त करना है.’’
उन्होंने कहा, ‘‘हम कैंसर अनुसंधान में कोशिका की पहचान करने की क्षमता और नये उपचारों की खोज में तेजी आने की संभावना को लेकर बहुत उत्साहित हैं.’’ यह सॉफ्टवेयर ‘मिनआयन’ पर काम करेगा. क्रेडिट कार्ड के आकार का उपकरण अपने सूक्ष्म छिद्रों के जरिये विभिन्न डीएनए को अपनी ओर खींचता है. इसके बाद वह न्यूक्लियोटाइड या डीएनए के अक्षरों ए टी सी जी के क्रम का विश्लेषण करता है.
विभिन्न तरह के जीवाणुओं और विषाणुओं के अध्ययन के लिए इस उपकरण का विकास किया गया था, लेकिन इसमें बहुत अधिक गलतियां होने और अनुक्रम में बहुत ज्यादा अंतर होने के कारण अब तक इसका प्रयोग मानवीय कोशिकाओं के न्यूक्लियोटाइड के अध्ययन तक सीमित है.

Comments

Popular posts from this blog

सभी सुपर स्टारों ने क्या कहा श्रीदेवी की मौत पे।

हमारे शारीर में इनका क्या काम होता है।

क्या होगा अगर 1 रूपए 1$ डॉलर के बराबर हो जाये तो हिंदी में